Ram Kamal Rai

अज्ञेय के साहित्य में मनुष्य की नियति

प्रस्तुत पुस्तक में अज्ञेय की रचनाओं  में मनुष्य की वेदना, करूणा, प्रेम, आत्म-संघर्ष व दूसरे विभिन्न आयामों का गहन अध्ययन कर समीक्षा की गई है। सत्य, निर्भयता, आत्म-त्याग, स्वाधीनता जैसे  उत्कृष्ट मूल्यों को स्थापित करते हुए समाज की थोथी मान्यताओं व नियतिवाद की रूढ़ अवधारणा का खण्डन करने का प्रयास किया है जो कि उत्तराधुनिकता के दौर में एक नए मनुष्य की   रचना और निर्मिति के लिए आवश्यक भी है। यह
Undefined